breaking news New

Barabanki : 3 बच्चों की हत्या के बाद पति-पत्नी ने की खुदकुशी! मिला सूइसाइड नोट

Barabanki : 3 बच्चों की हत्या के बाद पति-पत्नी ने की खुदकुशी! मिला सूइसाइड नोट


बाराबंकी। यूपी के बाराबंकी में आर्थिक तंगी से जूझ रहे एक दंपती ने तीन बच्चों की हत्या करने के बाद अपनी जान दे दी। शुक्रवार की सुबह घर के अंदर 5 शव मिलने की सूचना पर गांव में हड़कंप मच गया। पुलिस को मौके पर सूइसाइड नोट भी मिला है। पुलिस ने बताया कि बाराबंकी के सफेदाबाद में प्रॉपर्टी डीलर विवेक कुमार शुक्ला अपने परिवार से अलग रहते थे। पत्नी और बच्चे उन्हीं के साथ रहते थे।

कई दिनों से उसके घर से कोई आहट न मिलने पर दूसरे मकान में अलग रहने वाली विवेक शुक्ला की मां ने छत के आंगन से झांक कर देखा। मां का कहना है कि तीन दिन से कोई सुगबुगाहट नहीं मिली तो जीने से देखा। विवेक रस्सी से लटक रहे थे, इस पर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि घर का दरवाजा पहले से टूटा था।


बेटियों के शरीर में चाकू के निशान

एक कमरे में विवेक की पत्नी और दो बेटियां पड़ी हुई थीं। दोनों बेटियों के शरीर पर चाकुओं से गोदने के निशान थे। पत्नी के शरीर पर कोई चोट नहीं दिख रही थी। ऐसा लग रहा था कि जहर खाया है। आंगन में विवेक लटके हुए मिले। आगे के कमरे में बेटा खून से लथपथ पड़ा था। मौके पर चाकू मिला। मौके से एक सूइसाइड नोट अंग्रेजी में लिखा मिला।

हम सोच रहे थे स्थिति ठीक हो जाएगी

इसमें कहा गया कि हम आर्थिक तंगी में जी रहे थे। लोगों का काफी पैसा बकाया था। हम सोच रहे थे कि स्थितियां संभल जाएं। काफी दिन से प्रयास कर रहे थे लेकिन इसमें सफल नहीं हो पाए। मैं अपने तीनों बच्चों की हत्या कर रहा हूं। अगर हम ऐसा नहीं करते तो हमारे बच्चे की कोई देखरेख नहीं करता क्योंकि हमारे परिवार में संबंध अच्छे नहीं हैं।

11 साल पहले की थी लव मैरेज

मौके पर डॉग स्क्वॉड को बुलाया गया। पुलिस ने बताया कि 11 साल पहले विवेक ने लव मैरेज की थी। पहले मोबाइल की दुकान थी। दो साल पहले गैराज का काम शुरू किया। अब प्रॉपर्टी का काम शुरू किया था। बच्चों के शरीर नीले पड़े हुए थे ऐसे में संदेह है कि बच्चों को जहर भी दिया गया। विवेक को आखिरी बार 3 जून की शाम को देखा गया था।

प्रॉपर्टी के काम में था करोड़ों बकाया

पड़ोसी ने बताया कि प्रॉपर्टी के काम में एक करोड़ के आसपास का बकाया हो गया था। लेकन उन्हें इस बात का बिल्कुल अंदेशा नहीं था कि ऐसा कदम उठाएंगे। तीनों बच्चे गोयल टावर के पास जयपुरिया कॉलेज में पढ़ते थे। सुसाइड नोट में पति-पत्नी दोनों के दस्तखत हैं। ऐसे में अंदेशा है कि बच्चों की हत्या के बाद उन्होंने खुदकुशी कर ली। एसपी अरविंद चतुर्वेदी और डीएम डॉक्टर आदर्श सिंह मौके पर पहुंचे। आईजी अयोध्या रेंज संजीव गुप्ता भी घटनास्थल पर पहुंचे।