breaking news New

पाकिस्तान ने दुनिया से छिपाया सच, भारत की एयर स्ट्राइक में मारे गए पायलट्स के लिए बनवाया स्मारक

पाकिस्तान ने दुनिया से छिपाया सच, भारत की एयर स्ट्राइक में मारे गए पायलट्स के लिए बनवाया स्मारक

इस्लामाबाद, 15 सितंबर। पाकिस्तान का झूठ एक बार फिर से दुनिया के सामने बेनकाब हो गया है. 27 फरवरी को भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक  में मारे गए पाकिस्तानी पायलट्स के लिए स्मारक बनवाया है. हालांकि उसने यहां अपने पायलट्स को अपनाने से इंकार कर दिया है. इस स्मारक पर पाकिस्तान ने मारे गए एक भी पायलट का नाम नहीं रखा है.

यही नहीं एफ-16 के इस्तेमाल से इनकार करने वाले पाकिस्तान ने एमरॉम मिसाइल से सुखोई को मार गिराने की बात इस मेमोरियल में लिखी है. आपको बता दें एमरॉम मिसाइल सिर्फ एफ-16 से ही दागी जा सकती है. पाकिस्तान का कहना है कि मिग-21 बाइसन (MIG-21 Bison) को भी एमरॉम से निशाना बनाया गया था. हक़ीक़त ये है कि अभिनन्दन ने जो एफ-16 मार गिराया था पाकिस्तान ने उसकी तस्दीक़ की है.

F-16 का भी किया है जिक्र

मेमोरियल में लिखा गया है कि सुखोई-30 MKI को PAF F-16 उड़ा रहे स्क्वाड्रन लीडर हसन महमूद सिद्दकी ने एआईएम-120 एमरॉम बीवीआर मिसाइल का इस्तेमाल कर उसे गिरा दिया था. यही नहीं उसने विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान  के विमान मिग-21 बाइसन के संदर्भ में भी एफ-16 विमान का ही ज़िक्र किया है. जिसे अभिनंदन ने मार गिराया था.

जम्मू-कश्मीर  के पुलवामा  में 14 फरवरी को आतंकियों ने सुरक्षाबलों के एक काफिले को निशाना बनाकर आत्मघाती हमला किया था जिसमें करीब 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. भारत ने इसका बदला लेते हुए 27 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट समेत जैश-ए-मोहम्मद के कई ठिकानों को निशाना बनाकर हमला किया था. इसके अगले पाकिस्तान ने अपने एफ-16 विमान को मार गिराया था.

एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने बोला था झूठ

भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के विमान मिग-21 बाइसन विमान से एफ-16 को मार गिराया था. इसी के बाद अभिनंदन का विमान पीओके में गिर गया था जहां से पाकिस्तानी सैनिक उन्हें पाकिस्तान ले गए थे. हालांकि इसके 48 घंटों के भीतर अभिनंदन सकुशल भारत वापस लौट आए थे. पाकिस्तान ने उस समय भी एफ-16 के ढेर किए जाने से इंकार कर दिया था.