breaking news New

दिवाली में गैर-जरूरी शॉपिंग करने से कैसे बचे

दिवाली में गैर-जरूरी शॉपिंग करने से कैसे बचे


19 अक्टूबर  दिवाली का त्योहार सामने खड़ा है लोग एक बार फिर शॉपिंग के लिए सूची बना रहे हैं.बाजारों ने भी लोगों को 'अविश्वसनीय छूट' और 'आकर्षक ऑफर' जाल में फांसने के लिए तैयारी कर ली है,जानिये इससे कैसे बचा जाए जिससे लोग गैर-जरूरी शॉपिंग करने से बच सके.

सीजन पर सेल अकसर लोग को ये आकर्षित करता है और सीमित स्टॉक का डर,पर चिंता न करे आपको न्यू ईयर तक सेल मिलेगी.  गणेश चतुर्थी के बाद नवरात्रि, फिर दशहरा, फिर दिवाली और भी कई नामों से लोग ठगे जा रहे हैं. इसलिए चिंता न करें।

मुफ्त में फिजुल चीजें कुछ भी 'मुफ्त' लेने से पहले सोच लें कि आपको उसकी जरुरत है भी या नहीं, हालांकि, ऐसी स्थिति में कई बार ऐसा होता है कि दोनों ही चीजें गैर-जरूरी निकलती हैं.कई लोग सिर्फ इसलिए कोई वस्तु खरीदते हैं क्योंकि उसके साथ कुछ मुफ्त है.

'डर' का डर रिटेलर बिक्री बढ़ाने के लिए ऑफर लेकर आते हैं,ऐसे में पहले परख लें कि ऑफर में दी जा रही चीजों की उपयोगिता और वैल्यू असल में क्या है.ऐसा कतई संभव नहीं कि जिस भी वस्तु की आप कामना करते हों, वह आपके लिए जरूरी हो ही.अपनी इच्छाओं और जरूरत के बीच का फर्क समझें।

अवास्तविक बचत दुकानदार आपको ठगने के लिए किसी भी प्रोडक्ट की कीमत बढ़ा देते हैं और फिर नई कीमत पर आपको छूट मिलती है अपना बजट निश्चित करें और सूची में इस बात का ध्यान रखें कि जरूरी चीजों को प्राथमिकता दी जाए.

भ्रामक छूट अपनी खरीदारी को एक महीना पहले या एक महीने देरी से प्लान करें. इस दौरान आपको वही चीज मिलेगी, जो आप खरीदने निकल रहे हैं और बेकार चीजों को टाल पाएंगे. कई लोग मानते हैं कि त्योहारी सीजन में खरीदारी समझदारी का प्रमाण है. हालांकि, यह गलतफहमी है.सिर्फ इस वजह से खर्च न करें क्योंकि कोई दूसरा कर रहा है. जरूरी नहीं कि हर किसी की कमाई, जरूरत या इच्छाएं समान हों.