breaking news New

Chhattisgarh Breaking : वेंकटेश्वर इस्पात हादसा में एक और मौत, अब तक दो की मौत, तीसरे की हालत भी नाजुक

Chhattisgarh Breaking : वेंकटेश्वर इस्पात हादसा में एक और मौत, अब तक दो की मौत, तीसरे की हालत भी नाजुक


रायपुर. उरला स्थित वेंकटेश्वर इस्पात कंपनी में हादसा में घायल भगवती प्रसाद साहू की आज मौत हो गई. तीन दिनों तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद अंतत: उसने आज दम तोड़ दिया. वह 90 प्रतिशत जल गया था. मृतक के परिजनों का आरोप है कि कंपनी ने इलाज में लापरवाही बरती. उधर तीसरे घायल की हालत भी नाजुक बनी हुई है.

मालूम होवे कि तीन दिन पूर्व उरला स्थित वेंकटेश्वर इस्पात कंपनी में फर्नेस ब्लास्ट होने से तीन इलेक्ट्रिशियन घायल हो गये थे जिनका रायपुर के पचपेड़ीनाका स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था. इसमें से एक मध्यप्रदेश बालाघाट जिले के निवासी राजेन्द्र चौहान की मृत्यु उसी दिन रात को हो गई थी जबकि दूसरे घायल भगवती प्रसाद साहू की आज हो गई. उसके भाई ने फोन पर बताया कि सुबह 9.30 बजे उसके भाई की मौत हो गई. पंचनामा की कार्रवाई की जा रही है.

गंभीर रूप से घायल भगवती प्रसाद साहू की पत्नी नीरा साहू ने कहा कि हमारे परिवार का वो अकेला कमाने वाला था. यदि वेंकेटेश्वर इस्पात कंपनी में सुरक्षा के सारे इतंजाम होते और उनको समय पर अस्पताल पहुंचा देते तो वे बच सकते थे. घायलों को एम्बुलेंस आने के इतंजार में पंद्रह मिंनट तक बैठा के रखे थे। घायलों के परिजनों ने राज्य सरकार के श्रम विभाग पर भी आरोप लगया है कि अब तक श्रम विभाग की ओर से वेंकेटेश्वर इस्पात कंपनी पर कोई कार्यवाही नहीं की है.