breaking news New

गौठान समितियों को सक्रिय रखकर गतिविधियां संचालित करने के निर्देश

गौठान समितियों को सक्रिय रखकर गतिविधियां संचालित करने के निर्देश

दंतेवाड़ा। राज्य शासन की मंशानुरूप जिले में नरवा-गरवा घुरवा एवं बारी योजना के क्रियान्वयन के लिए पूरी गंभीरता के साथ पहल किया जाये। इस दिशा में गौठान समितियों को वर्मी कम्पोस्ट नाडेप खाद बनाने पालतू पशुओं का टीकाकरण एवं कृत्रिम गर्भाधान करवाने सहित चारा उत्पादन जैसी गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित किया जाये। वहीं गौठानों का समुचित ढंग से देखरेख करने की जिम्मेदारी सौंपी जाये। इसके साथ ही गौठानों के खाली जगह पर पानी की सुलभता के अनुसार साग.सब्जी उत्पादन को बढ़ावा दिया जाये। उक्त निर्देश कलेक्टर  टोपेश्वर वर्मा ने कलेक्टोरेट के डंकिनी सभागार में आयोजित समय-सीमा की बैठक के दौरान अधिकारियों को दिया। बैठक में विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों सहित जिले में पदस्थ एसडीएम तहसीलदारए सीईओ जनपद पंचायत और नगरीय निकायों के सीएमओ मौजूद थे।
कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बैठक के दौरान जिले में बनाये गये गौठानों के संचालन एवं देखरेख हेतु गठित गौठान समितियों की विस्तृत जानकारी ली और अधिकारियों को निर्देशित किया कि गौठान समितियों की नियमित बैठक आयोजित कर उन्हें गौठानों में उत्पादक गतिविधियों को संचालित करने अभिप्रेरित किया जाये। इसके साथ ही गौठान में पालतू मवेशियों का टीकाकरण करवाने तथा दुधारू पशुओं का कृत्रिम गर्भाधान कराये जाने समझाईश दी जाये। इन गौठानों में जगह एवं पानी की उपलब्धता के अनुसार साग.सब्जी का उत्पादन और चारा उत्पादन करने के लिये गौठान समितियों को प्रोत्साहित किया जाये। जिससे गौठान समितियों को आय अर्जित हो सके। इसके साथ ही गौठानों में पशु चारे और पैंरा की व्यवस्था सुनिश्चित करने आवश्यक पहल किया जाये। इस दिशा में किसानों को धान की मिंजाई के पश्चात पैंरा को सुरक्षित रखने की समझाईश दी जाये और घरेलू उपयोग के अतिरिक्त पैंरा को गांव के पालतू पशुओं के लिए गौठान समिति को दान करने हेतु कृषकों को अभिप्रेरित किया जाये। कलेक्टर  वर्मा ने इन सभी कार्यों को सुनिश्चित करने के लिए सम्बन्धित विभागीय अमले को नियमित रूप से गौठान समितियों की बैठक कर आवश्यक परामर्श देने का निर्देश दिया। वहीं सम्बन्धित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों को सयुंक्त रूप से पर्यवेक्षण किये जाने कहा। कलेक्टर  वर्मा ने हरेक ब्लॉक के एक गौठान को मॉडल गौठान बनाने पर बल देते हुए कहा कि ऐसे मॉडल गौठान में अन्य गौठान के गौठान समितियों को भ्रमण कराये जाने सहित उन्हें आवश्यक प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाये। उन्होंने इस हेतु सभी ब्लॉकों में एक-एक गौठान चिन्हित कर मॉडल गौठान के रूप में विकसित करने के लिये अतिशीघ्र पहल किये जाने अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर  वर्मा ने बैठक में विभिन्न मदों के तहत स्वीकृत निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यों को योजनाबद्ध ढंग से संचालित कर नियत समयावधि में पूर्ण किया जाये। इस दिशा में निर्माण कार्यों के लिए निर्माण सामग्री और उपकरणों की समयपूर्व व्यवस्था करने सहित पर्याप्त श्रमिकों की उपलब्धता सुनिश्चित कर निर्माण कार्य को नियमित रूप से तेजी के साथ संचालित किया जाये। बैठक में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी हेतु तैयारी खरीफ  फसल कटाई अनुप्रयोग स्कूली छात्र-छात्राओं को जाति प्रमाण पत्र प्रदाय 7 वीं आर्थिक गणना डीएमएफ के अनुमोदित कार्ययोजना के अनुरूप प्राक्कलन प्रस्तुति इत्यादि की समीक्षा की गयी। जिले के आश्रम-छात्रावासों तथा आवासीय विद्यालयों का नियमित निरीक्षण करने के लिये रोस्टर निर्धारित कर जिला अनुविभाग एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को दायित्व सौंपे जाने के निर्देश दिए गए।