breaking news New

नगर निगम मतदाता सूची को लेकर मची सियासत

नगर निगम मतदाता सूची को लेकर मची सियासत

रायगढ़, 12 सितंबर। नगर निगम आगामी नगरीय निकाय चुनाव के लिए मतदाता सूची को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। कई वार्डों की मतदाता सूची में जमकर त्रुटियां सामने आई हैं। आलम ये है कि ढाई से तीन हजार मतदाता वाले वार्डों में तीन सौ से चार सौ नाम दीगर वार्डों में चले  गए हैं। भाजपा इसे राजनैतिक षडय़ंत्र करार देते हुए जांच की मांग कर रही है।
पहले परिसीमन को लेकर पार्षदों में असंतोष दिखा तो अब मतदाता सूची में गड़बड़ी होने की शिकायतें सामने आ रही है। हालांकि कई पार्षदों द्वारा मांग किये जाने के बावजूद प्रशासन ने रायगढ़ नगर निगम क्षेत्र का परिसीमन नहीं कराया। वहीं अब  रायगढ़ नगर निगम के 48 वार्डों के लिए जो मतदाता सूची तैयार की गई है उसे लेकर शहर में सियासी बवाल मचा हुआ है। ऐसा इसलिए क्योंकि वार्डों की सूची में जमकर त्रुटियां सामने आई हैं। शहर के वार्ड नंबर 12, वार्ड 13, 14 वार्ड 5,वार्ड 6 वार्ड 25, 26, 27 सहित तकरीबन दर्जन भर से अधिक वार्ड ऐसे हैं जहां के मतदाता आसपास के दूसरे वार्डों में स्थानांतरित हो गए हैं। माना जारहा है कि परिसीमन में असमानता के कारण ही मतदाता सूची में भी त्रुटि हो रही है। हालांकि प्रशासन का कहना है कि कोई खास त्रुटियां नहीं हैं अंशिक त्रुटि है उसे सुधार ली जावेगी।  ऐसे में दिग्गज पार्षदों को वोट बैंक डेमेज होने का डर सता रहा है। भाजपा ने तो इसे राजनैतिक षडय़ंत्र करार देते हुए बयानबाजी तक शुरु कर दी है। भाजपा पार्षदों के दल ने नगर निगम आयुक्त से इसकी शिकायत भी की है। भाजपा का कहना है कि ज्यादातर गड़बडि़यिां भाजपाई वार्डों में हैं जहां दिग्गज पार्षद हैं। ऐसे में कांग्रेस जानबूझकर अपने प्रभाव का उपयोग करते हुए वोट बैंक डेमेज कर चुनाव जीतना चाह रही है। इस संबंध में नगर निगम सभापति सलीम नियारिया का कहना है कि पिछले बार परिसीमन में विसंगतियां थी तत्कालीन कलेक्टर को ध्यानाकर्षण कराया गया था उस समय सुधार नहीं किया गया था वर्तमान में परिसीमन आयुक्तों को करना था लेकिन परिसीमन नहीं हो पाया, मतदाता सूची में सुधार होना था, जिला कलेक्टर से इस विषय पर चर्चा करेंगे।