breaking news New

सत्ता जाने के डेढ़ साल बाद Raman Singh के आंख से विकास का झूठा चश्मा उतरा - Congress

सत्ता जाने के डेढ़ साल बाद Raman Singh के आंख से विकास का झूठा चश्मा उतरा - Congress

 ट्वीट में रमन सिंह ने अपने कुशासन के कारण हुई

छत्तीसगढ़ की दुर्गति को स्वीकार किया 


रायपुर, 9 जुलाई। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के द्वारा विकास की चिड़िया खोजने के संदर्भ में किये गए ट्वीट पर कांग्रेस ने कड़ा जबाब दिया है।प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि सत्ता हाँथ से जाने के डेढ़ साल बाद रमन सिंह की आंख से  अब जा कर विकास का वो झूठा चश्मा उतरा है जो उन्होंने मुख्यमंत्री रहते हुए पहन रखा था। अब उन्हें राज्य की जमीनी हकीकत दिखने लगी है ।उनके कुशासन के कारण हुई छत्तीसगढ़ की दुर्गति को रमन सिंह ने ट्वीट में स्वीकार किया है। राज्य में  बेरोजगारी ,गरीबी ,स्कूलों कालेजो का अभाव ,सड़को का अभाव अस्पतालों का अभाव किसानों को बोनस समर्थन मूल्य जैसे जनसरोकारों के विषय अब उन्हें दिखाई देने लग गए है । 

रमन सिंह ने स्वीकार किया है कि  राज्य में इन सब का भारी अभाव है ।यह सारी समस्याएं एक दिन की नही है और न एक दिन में ठीक की जा सकती है ।इन सारी समस्यायों के लिए जबाबदेह तो रमन सिंह ही है जिन्होंने प्रदेश में पन्द्रह साल तक सरकार चलाई और राज्य के शिक्षा स्वास्थ्य बेरोजगारी जैसे समस्यायों पर ध्यान नहीं दिया ।


    प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि विकास के झूठे चश्मे के उतरने के बाद रमन सिंह चाहते है जो काम उनके कुशासन भ्रस्टाचार और वायदा खिलाफी के कारण पन्द्रह सालो में नही हुए कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार उसे पन्द्रह महीने में कर दिखाए।

       रमन सिंह अपने वायदे खिलाफी को कांग्रेस सरकार से पूरी करवाने की अपेक्षा रखते हैं। रमन सिंह बेफिक्र रहें कांग्रेस अपने वायदों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है ।डेढ़ सालो में कांग्रेस ने जन घोषणा पत्र के 36 में से 22 वायदों को पूरा किया है आने वाले साढ़े तीन साल में बचे वादों को पूरा करने के लिए कांग्रेस की सरकार संकल्पित है।

      कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा चुनाव में  वादा कर जन मत हासिल कर सरकार बना कर वादों को भूलना भाजपा की फितरत है कांग्रेस जो कहती है वह करती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों का कर्ज माफ किया । धान  2500 रु में खरीदा। 400 यूनिट तक बिजली बिल आधा किया ।सिचाई कर माफ किया। तेंदूपत्ता संग्रहन की राशि 2500 से बढ़ा कर 4000 रु किया। 5 डिसमिल तक जमीनों की बन्द रजिस्ट्री शुरू किया ।जमीनों की दर में 30 फीसदी की कटौती किया ।डायवर्सन के नियम शिथिल किये 15000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई ।सरकारी नौकरी में नई भरतिया चालू की गई ।कोरोना संकट के बावजूद सभी वर्गों के हितों अपने वायदों को पूरा करने कांग्रेस की सरकार प्रतिबद्ध है।