वैश्विक संकेतों के दबाव में लगातार तीसरे दिन गिरावट में बंद हुए शेयर बाजार

वैश्विक संकेतों के दबाव में लगातार तीसरे दिन गिरावट में बंद हुए शेयर बाजार

 मुम्बई। देश में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों और कृषि विधेयकों को लेकर अनिश्चितता के माहौल से हतोत्साहित निवेशकों की जबरदस्त बिकवाली के बीच कमजोर वैश्विक संकेतों के दबाव में सोमवार को घरेलू शेयर बाजार दिनभर लाल निशान में रहते हुए लगातार तीसरे दिन गिरावट में बंद हुए।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 811.68 अंक लुढ़ककर 38,034.14 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 282.75 अंक उतरकर 11,222.20 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स गिरावट में 38,812.69 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 38,990.76 अंक के दिवस के उच्चतम और 37,938.53 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 2.09 फीसदी लुढ़ककर 38,034.14 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से मात्र तीन कंपनियां कोटक बैंक, इंफोसिस और टीसीएस के शेयरों के भाव में तेजी रही। शेष सभी 27 कंपनियों के शेयरों के भाव लुढ़क गये। इंडसइंड बैंक के शेयरों सर्वाधिक बिकवाली का जोर रहा।

निफ्टी का ग्राफ भी सेंसेक्स की तरह रहा। यह भी गिरावट में 11,503.80 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 11,535.25 अंक के दिवस के उच्चतम और 11,218.50 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 2.46 प्रतिशत की गिरावट में 11,222.20 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 47 कंपनियां गिरावट में रहीं जबकि तीन में तेजी रही। सेंसेक्स की तेजी में रहने वाली तीन कंपनियों ने ही निफ्टी में भी बढ़त बनाये रखी। इंडसइंड बैँंक निफ्टी में भी सबसे अधिक नुकसान में रहने वाली कंपनी रही।