breaking news New

जन्मदिन पर मां Nargis को याद कर भावुक हुए Sanjay Dutt, शेयर कीं अनदेखी तस्वीरें

जन्मदिन पर मां Nargis  को याद कर भावुक हुए Sanjay Dutt, शेयर कीं अनदेखी तस्वीरें


नई दिल्ली। एक जून को हिंदी सिनेमा की लीजेंडरी एक्ट्रेस नरगिस दत्त का जन्मदिन है। नरगिस भारतीय सिनेमा की उन अदाकाराओं में शामिल हैं, जिन्होंने अपनी कला से सिनेमा को एक अलग मुकाम पर पहुंचाया। यादगार किरदारों और साहसी अभिनय ने नरगिस को अपनी लीग में सबसे आगे खड़ा कर दिया। बेटे संजय दत्त ने मां को उनके जन्मदिन पर याद करते हुए पुरानी तस्वीरें साझा की हैं।

संजय ने एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया, जिसमें नरगिस को एक अभिनेत्री और एक मां के तौर पर दिखाया गया है। इस वीडियो के साथ संजय ने लिखा- जन्मदिन मुबारक मां। आपकी याद आती है। संजय नरगिस के बेहद कऱीब थे। नरगिस राज्यसभा के लिए नॉमिनेट होने और पद्मश्री पुरस्कार पाने वाली पहली हीरोइन थीं। नरगिस के अभिनय का जादू कुछ ऐसा था कि साल 1968 में जब बेस्ट एक्ट्रेस के लिए पहले फि़ल्मफेयर अवॉर्ड देने की बारी आई तो उन्हें ही चुना गया।

नरगिस के बचपन का नाम फातिमा राशिद था। उनका जन्म 1 जून 1929 को पश्चिम बंगाल के कलकत्ता शहर में हुआ था। नरगिस के पिता उत्तमचंद मोहनदास एक जाने-माने डॉक्टर थे। उनकी मां जद्दनबाई मशहूर नर्तकी और गायिका थी। मां के सहयोग से ही नरगिस फि़ल्मों से जुड़ीं और उनके करियर की शुरुआत हुई फि़ल्म तलाश-ए-हक से, जिसमें उन्होंने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट काम किया। उस समय उनकी उम्र महज 6 साल की थी। इस फि़ल्म के बाद वो बेबी नरगिस के नाम से मशहूर हो गयीं।

राज कपूर के साथ 16 फि़ल्में

1940 से लेकर 1950 के बीच नरगिस ने कई बड़ी फि़ल्मों में काम किया। जैसे 'बरसातÓ, 'आवाराÓ, 'दीदारÓ और 'श्री 420Ó। तब राज कपूर का दौर था। नरगिस ने राज कपूर के साथ 16 फि़ल्में की और ज़्यादातर फि़ल्में सफल साबित हुईं। 1956 में आई फि़ल्म चोरी चोरी नरगिस और राजकपूर की जोड़ी वाली अंतिम फि़ल्म थी।

मदर इंडिया के सेट पर सुनील दत्त से प्यार

नरगिस ने 1957 में महबूब ख़ान की मदर इंडिया की शूटिंग शुरू की। मदर इंडिया की शूटिंग के दौरान सेट पर आग लग गई। सुनील दत्त ने अपनी जान पर खेलकर नरगिस को बचाया और दोनों में प्यार हो गया। मार्च 1958 में दोनों की शादी हो गई। दोनों के तीन बच्चे हुए, संजय, प्रिया और नम्रता। गौरतलब है कि कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी से जूझते हुए नरगिस कोमा में चली गयीं। 3 मई 1981 को मुंबई में उनका निधन हुआ। बता दें कि जिस दिन नरगिस की मौत हुई उसके एक सप्ताह बाद ही संजय दत्त की पहली फि़ल्म रॉकी रिलीज़ हुई थी।