breaking news New

मारुति की कई गाड़ियों के सीएनजी वर्जन जल्द

मारुति की कई गाड़ियों के सीएनजी वर्जन जल्द

देश की दूसरी कार निर्माता कंपनियों की तरह मारुति-सुज़ुकी भी बीएस-6 मानकों पर खरे उतरने वाले इंजन को तैयार करने में जुटी है. लेकिन ख़बरें बताती हैं कि मारुति अभी सिर्फ़ पेट्रोल इंजन को इन मानकों के अनुरूप तैयार कर रही है. डीज़ल इंजन को लेकर कंपनी की हाल-फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है. जानकारी के मुताबिक मारुति डीज़ल के विकल्प के तौर पर अपनी प्रमुख गाड़ियों के सीएनजी वेरिएंट बाज़ार में उतारेगी. ऑटोमोबाइल से जुड़ी एक प्रमुख वेबसाइट की मानें तो इन कारों की फेहरिस्त में स्विफ्ट पहली होगी. फिलहाल भारत में मारुति की सोलह में से आधी कारें सीएनजी किट के साथ आती हैं.

संभावना है कि स्विफ्ट के बाद कंपनी की इग्निस, डिज़ायर, बलेनो और सियाज़ को भी सीएनजी विकल्प के तौर पर पेश किया जाएगा. फिलहाल मारुति की कुल बिक्री में तीस प्रतिशत भागीदारी सीएनजी गाड़ियों की है. इन कारों की बिक्री विभिन्न राज्यों में सीएनजी फिलिंग स्टेशनों की संख्या पर निर्भर करती है. हालांकि कंपनी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने इशारा दिया है कि कंपनी फिटेड सीएनजी किट की कीमतें बाज़ार में लगवाई जाने वाली किटों से महंगी रहेंगी. लेकिन उन्होंने यह दावा भी किया कि कंपनी की किटें सुरक्षा के मामले में बहुत उन्नत होंगी. फिलहाल बाज़ार में उपलब्ध अधिकतर सीएनजी किटें आयात की जाती हैं जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘मेक इन इंडिया’ योजना से मेल नहीं खाती. ऐसे में वाहन कंपनियां अपनी सीएनजी किट विकसित करने में जुटी हैं. हाल ही में भारत सरकार द्वारा दस हजार नए सीएनजी फिलिंग स्टेशन स्थापित किए जाने की घोषणा के बाद जानकारों का मानना है कि सीएनजी गाड़ियों की मांग में बड़ा इज़ाफा हो सकता है.